CD1d द्वारा Glycolipid एंटीजन प्रस्तुति और NKT सेल सक्रियण के संभावित चिकित्सीय: साक्षात्कार

Biology

Your institution must subscribe to JoVE's Biology section to access this content.

Fill out the form below to receive a free trial or learn more about access:

Welcome!

Enter your email below to get your free 10 minute trial to JoVE!





We use/store this info to ensure you have proper access and that your account is secure. We may use this info to send you notifications about your account, your institutional access, and/or other related products. To learn more about our GDPR policies click here.

If you want more info regarding data storage, please contact gdpr@jove.com.

 

Summary

प्राकृतिक हत्यारा टी कोशिकाओं (NKT) कैंसर autioimmunity के विनियमन, संक्रमण की निकासी, और artheriosclerotic सजीले टुकड़े के विकास के लिए प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया के महत्वपूर्ण निर्धारक हैं. इस साक्षात्कार में, मिच Kronenberg अपनी प्रयोगशाला में व्यवस्था है जिसके माध्यम NKT कोशिकाओं glycolipid प्रतिजनों के द्वारा सक्रिय कर रहे हैं समझने के प्रयासों की चर्चा है.

Cite this Article

Copy Citation | Download Citations

Kronenberg, M. Interview: Glycolipid Antigen Presentation by CD1d and the Therapeutic Potential of NKT cell Activation. J. Vis. Exp. (10), e635, doi:10.3791/635 (2007).

Please note that all translations are automatically generated.

Click here for the english version. For other languages click here.

Abstract

प्राकृतिक हत्यारा टी कोशिकाओं (NKT) कैंसर, autioimmune रोग के विनियमन, संक्रामक एजेंटों की निकासी, और artheriosclerotic सजीले टुकड़े के विकास के लिए प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया के महत्वपूर्ण निर्धारक हैं. इस साक्षात्कार में, मिच Kronenberg अपनी प्रयोगशाला में व्यवस्था है जिसके माध्यम NKT कोशिकाओं glycolipid प्रतिजनों के द्वारा सक्रिय कर रहे हैं समझने के प्रयासों की चर्चा है. प्रतिजन पेश अणु है कि NKT कोशिकाओं को glycolipids प्रस्तुत - इन अध्ययनों के लिए केन्द्रीय CD1d है. CD1d tetramer प्रौद्योगिकी, एक Kronenberg प्रयोगशाला द्वारा विकसित तकनीक के आगमन छँटाई और विशिष्ट glycolipid प्रतिक्रियाशील टी कोशिकाओं की सबसेट पहचान के लिए महत्वपूर्ण है. मिच बताते हैं कैसे glycolipid agonists चिकित्सीय एजेंट के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है कैंसर रोगियों में NKT कोशिकाओं को सक्रिय और CD1d tetramers glycolipid agonist चिकित्सा के बाद vivo में NKT सेल की आबादी के राज्य का आकलन कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है. इन agonists का उपयोग कर चल रही नैदानिक ​​परीक्षणों के वर्तमान स्थिति के रूप में अच्छी तरह से मिच इम्मुनोलोगि के क्षेत्र में है कि निकट भविष्य में महत्व है उभरते क्षेत्रों के लिए भविष्यवाणी के रूप में चर्चा कर रहे हैं.

References

  1. Khurana, A., Kronenberg, M. A Method for Production of Recombinant CD1d Protein in Insect Cells. 12/10/2007) Journal of Visualized Experiments. Forthcoming.

Comments

2 Comments

  1. i cann't see more detail in this Vedeo. Who can answer the proplem for me?

    Reply
    Posted by: siriwan W.
    February 28, 2012 - 9:15 AM
  2. I am looking for information regarding to CD1d presenting glycolipids. And I hope this video can provide a vivid presentation of the mechanism as I have limited background knowledge about this topic.

    Reply
    Posted by: Shuyi Y.
    July 16, 2012 - 9:59 PM

Post a Question / Comment / Request

You must be signed in to post a comment. Please or create an account.

Usage Statistics